Type Here to Get Search Results !

Home Ads 2

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari | Top 44+ Chhattisgarh.xYz

 CG Maya Shayari Cg Love Shayari in Chhattisgarh.xYz

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari | Top 44+ Chhattisgarh.xYz
CG Maya Shayari | Cg Love Shayari | Top 44+ Chhattisgarh.xYz

स्वीट-स्वीट तोर गोठ गोरी दिल ल

“झटका” देथे ओ, 

मया के बीच मजधार म

मोला “अटका” देथे ओ !

मया पिरित के बंधना म बांधे मन म मोर समागे। तोर बिना मोर दिन नई पहावय कोन दुनिया म तैं लुकागे।।

मया पिरित के बंधना म बांधे मन म मोर समागे।

तोर बिना मोर दिन नई पहावय कोन दुनिया म तैं लुकागे।।

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

नजरे नजर म झूलत रहिथे, मुच ले तोर मुस्काई ह।

कब आबे मोर रानी बनके, घेरिबेरी याद आथे तोर लजाई ह

सुनतहस किनी मोर दिल के धड़कन ल कईसे धडकत हे हाई बीट म मोर मयारू मोर पिरोही तैं बईठे हावस करेजा वाले सीट म

सुनतहस किनी मोर दिल के

धड़कन ल कईसे धडकत हे

हाई बीट म मोर मयारू

मोर पिरोही तैं बईठे हावस

करेजा वाले सीट म

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

मोला कछु झन देबे मया के चिन्हारी

तोर मया मोर बर अमृत के पानी हे

अउ तोर मया बिना ये मोर रानी

अलकरहा” मोर जवानी हे 

करले तै भरेसा संगी, मन म तोला बसाहुँ आँखि आँखि म झूलत रथस, रानी तोला बनाहुँ

करले तै भरेसा संगी, मन म तोला बसाहुँ

आँखि आँखि म झूलत रथस, रानी तोला बनाहुँ

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

झुलना मा बईठ के टुरी

मया के गाना गावय जी

अन्ते-तन्ते गावत रईथे

सारे गामा नई आवय जी !

बिहा म नाचत हे टुरी हाई साउंड के बाजा मा जइसे कोई नाचे नहीं “छालीवुड” के नाचा मा !

बिहा म नाचत हे टुरी

हाई साउंड के बाजा मा

जइसे कोई नाचे नहीं

“छालीवुड” के नाचा मा !

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

जंगल के भीतर टुरी 

बघवा के डेरा ओ

 आजा समा-जा छाती म

खुल्ला हे बईहाँ के घेरा ओ 

कईसे मया होगे तोर संग मयारू  जइसे बंजर भुइंया हरियागे  न सोना कस मोर गोरा बदन ह  करिया लोहा कस करियागे न

कईसे मया होगे तोर संग मयारू

 जइसे बंजर भुइंया हरियागे 

न सोना कस मोर गोरा बदन ह

 करिया लोहा कस करियागे न 

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

कभू चटकन उबाहूँ त

मुस्कुरा के गोठिया देबे

भुला जाहँव रिस-पित ल

मया के गोठ गोठिया देबे 

मोर मया ल तैं नई समझे  दूसर के बात म मोला भुलाए। कोन जनम के बदला चुकाए, धर धर आंसू मोला रोवाए।

मोर मया ल तैं नई समझे 

दूसर के बात म मोला भुलाए।

कोन जनम के बदला चुकाए,

धर धर आंसू मोला रोवाए।

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

हीरदय म करके चल देहे घांव कब आबे मोरे गांव।

देखत रहीथौं मैं तोर रस्ता ओ बइठे पीपर के छांव।

दिल म करके चल देये घांव कब आबे मोरे गॉंव।

देखत रहीथौं मैं तोर रस्ता ओ बइठे पीपर के छांव।

छत ऊपर ले देखत हंव तोला जइसे देखय चंदा ह चकोर ल  तीर म आना ये मोर मयारू बाँध ले कसके मया के डोर ले

छत ऊपर ले देखत हंव तोला जइसे देखय चंदा ह चकोर ल 

तीर म आना ये मोर मयारू बाँध ले कसके मया के डोर ले

ऑफ़ कर देथे चैटिंग ल टुरी मेसेज के रिप्लाय करे नही  हाय-हेल्लो ले करथंव शुरू फिर भी काबर चैटिंग करे नही

ऑफ़ कर देथे चैटिंग ल टुरी मेसेज के रिप्लाय करे नही 

हाय-हेल्लो ले करथंव शुरू फिर भी काबर चैटिंग करे नही

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

धड़कत हे दिल ह आंय-बांय कछु तो उपाय बता ओ 

रहे नइ सकंव तोर बिना अइसे झन सता ओ

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

नसा चढ़े हे मोला मया के तोर 

कतको उतारे नइ उतरय ओ

 तोला मिले से पहिली नीमगा रेहेंव खुद ल

 अब कतको सुधारेंव नइ सुधरय ओ

कईसे मया होगे तोर संग मयारू  जइसे बंजर भुइंया हरियागे न  सोना कस मोर गोरा बदन ह  करिया लोहा कस करियागे न

कईसे मया होगे तोर संग मयारू

 जइसे बंजर भुइंया हरियागे न 

सोना कस मोर गोरा बदन ह

 करिया लोहा कस करियागे न

अंगरखा कइसे पहिरे हे टुरी बदन म  जींस टॉप के बौछार हे रंग रंगीली टुरी मटमटही हे  ओखर म फेसन के भुत सवार हे

अंगरखा कइसे पहिरे हे टुरी बदन म

 जींस टॉप के बौछार हे रंग रंगीली टुरी मटमटही हे

 ओखर म फेसन के भुत सवार हे

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari
Cg Love Shayari

ये वो चंदा रानी तोर चेहरा मोर मन भीतर म छाये हे

 गजब के हावय तोर रूप गोरी मोला बईहा -पगला बनाये हे

का मोहिनी हे तोर रूप म रानी नयना बेकाबू हो जाथे  ओ घेरी-बेरी देखेबर तोला तोर तीर-तीर म आथे ओ

का मोहिनी हे तोर रूप म रानी नयना बेकाबू हो जाथे

 ओ घेरी-बेरी देखेबर तोला तोर तीर-तीर म आथे ओ

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

मोर घर-कुरिया के बन जा देखईय्या

 अउ एक घांव बोलदे सईंया, 

तोर इही गोठ ल सुने बर कई जनम ले तरसत हंव गुईयां

का मतलब असने तोर मया के जेन दू बांटा म बँटाये हस  , एक ले पीछा छुटे त दुसर म जाके संटाये हस

का मतलब असने तोर मया के जेन दू बांटा म बँटाये हस

एक ले पीछा छुटे त दुसर म जाके संटाये हस

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

सुर मोहिनी टुरी तोर मन मोहिनी रूप ओ

 देखे म मन माढ़े नही ,तोला पाये बर मन होथे,

 जइसे तैं छाये हस मोर जिनगी म

 वइसे तोर जिनगी म छाये बर मन होथे

टुरी ह कारी हे अटल कुंवारी हे  मन ल कइसे तरसावय जी  मया वाले रस चुहाके  काबर एती ओती लुकावय जी

टुरी ह कारी हे अटल कुंवारी हे

 मन ल कइसे तरसावय जी 

मया वाले रस चुहाके

 काबर एती ओती लुकावय जी

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

छोड़ मोला चले पिया के दुवारी, टोरे मया के बंधना ल।

सुख म जिनगी पहाबे जा तैं, भुला जाबे मोर सपना ल

दिल के दरद ल काला बतावव कोनो नई हे सुनईया। ओहू मोला धोखा देदिस जेन एक झन रहिस पूछईया।

दिल के दरद ल काला बतावव कोनो नई हे सुनईया।

ओहू मोला धोखा देदिस जेन एक झन रहिस पूछईया।

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari
CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

नसा चढ़े हे मोला मया के 

तोर कतको उतारे नइ उतरय

ओ तोला मिले से पहिली 

नीमगा रेहेंव खुद ल

अब कतको सुधारेंव नइ सुधरय ओ !

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari
CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

सरसों के बारी मा पिउंरी पिउंरी रंग बरसे जी 

 एक मिनट के विरहा म टूरा टुरी ल मिले बर तरसे जी

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

चार्ज करले अपन मुड़ ल चल चलबो मया के गाँव

 देखे सुने होबे ओ रानी हावय श्यादर मोरे नाव

बैठे-बैठे बोर लगत हे  कती डाहन मैं जाँव चले चलथँव मोर मयारू  मोर पिरोही के गाँव

बैठे-बैठे बोर लगत हे

 कती डाहन मैं जाँव चले चलथँव मोर मयारू

 मोर पिरोही के गाँव

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

facebook म maya बढाबो गोरी अउ व्हाट्सप म करबो चैटिंग 

ये वो जुलुफ वाली मोर दीवानी नया bhilai के होटल म करबो डेटिंग

मोर घर-कुरिया के बन जा देखईय्या  अउ एक घांव बोलदे सईंया, तोर इही गोठ ल सुने बर कई जनम ले तरसत हंव गुईयां !

मोर घर-कुरिया के बन जा देखईय्या 

अउ एक घांव बोलदे सईंया,

तोर इही गोठ ल सुने बर

कई जनम ले तरसत हंव गुईयां !

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

तोर हिरदय के तरिया म डुबकी मैं लगा लेतेंव,

तोर अचरा के छइन्हा म गोरी जिनगी घलो बिता लेतेंव।

एक जनम ल कोन कहै सातो जनम निभातेंव मैं,

एक बार तैं हां कहिदे बिछे खटिया म जेवन करातेंव मैं।।

जंगल के भीतर टुरी बघवा के डेरा ओ  आजा समा-जा छाती म खुल्ला हे बईहाँ के घेरा ओ

जंगल के भीतर टुरी बघवा के डेरा ओ

 आजा समा-जा छाती म खुल्ला हे बईहाँ के घेरा ओ

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

गिटार बजावँव के बजावँव बांसुरी के गावँव मया के गाना

 ये वो पिरित वाली दीवानी मोर संग तोला मया ,हावय के नही बताना

करे हंव मया इही जान के की अपन बनाहूँ सुवारी तोला  एक दिन तैं खुद कहिबे रानी ले चल अपन दुआरी मोला

करे हंव मया इही जान के की अपन बनाहूँ सुवारी तोला

 एक दिन तैं खुद कहिबे रानी ले चल अपन दुआरी मोला

जान बुझ के करे हांसी ठिठोली अउ फांस डारे  मोला अपन मया म   तडपत हंव तोला एती ओती खोजत तोला थोरको नइ लागे दया न

जान बुझ के करे हांसी ठिठोली अउ फांस डारे

 मोला अपन मया म 

 तडपत हंव तोला एती ओती खोजत तोला थोरको नइ लागे दया न

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

किस्मत के लिक्खा मान के तोला अपनावत हंव रानी

कभू झन देबे दगा जिनगी म नइतो कर दुहूँ तोला चानी-चानी

तोर मया म बइहा होगेंव अन पानी नई सुहावते। कब तैं ह मोर से बिहाव करबे दिन ह नई पहावते।।
Maya Shayari

तोर मया म बइहा होगेंव अन पानी नई सुहावते।

कब तैं ह मोर से बिहाव करबे दिन ह नई पहावते।।

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

कइसे कहौं तोर सुरता सतावय,

कइसे कहौं मोला नींद नई आवय।

तोला लगथे मैं बहाना बनाथौं,

कइसे कहौं तोर बिना दिन नई पहावय

कईसे मया होगे तोर संग मयारू  जइसे बंजर भुइंया हरियागे न  सोना कस मोर गोरा बदन ह,  करिया लोहा कस करियागे न

कईसे मया होगे तोर संग मयारू

जइसे बंजर भुइंया हरियागे न

सोना कस मोर गोरा बदन ह,

करिया लोहा कस करियागे न 

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

तोला देखे बिना मन नई मानय, दउड़ दउड़ के आथों तोर पारा

तोर दद ल ससुर बनाहूं तोर भाई ल मोर सारा।।

देखे हौं जब ले तोला गोरी, कुछु मोला नई भावत हे। मया के का तैं जादू डारे, मोर दिन ह नई पहावत हे।

देखे हौं जब ले तोला गोरी, कुछु मोला नई भावत हे।

मया के का तैं जादू डारे, मोर दिन ह नई पहावत हे।

CG Maya Shayari | Cg Love Shayari

तहिं हवस मोर मया के रानी, तहिं मोरे संसार ओ।

तोर बिना मोर जग अंधियार, तहिं जिये के आधार ओ।।

संगवारी मन ला हमर यह लिखे गए पोस्ट ह कैसे लगीस कमेंट के माध्यम से जरूर बताहू औउ एला दूसर के संग शेयर करेला भुलाहु मत.

आप मन एला व्हाट्सएप औउ फेसबुक टि्वटर या टेलीग्राम जैसे सोशल मीडिया म शेयर कर सकत हव,

जेकर से यह छत्तीसगढ़ के कोना-कोना म पहुंच सके,अउ सब्बोजन एकर पढ़ के आनंद ले सके.

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Get in Touch Join Whatsapp

ग्रुप लिंक

 

 

  • अपनी शायरी, जोक्स, कविता हमें भेजने के लिए निचे दिए गए अपलोड बटन में क्लिक करके भेजे.
  • अगर आपके द्वारा भेजे गए कविता, जोक्स, शायरी अच्छी रहेगी तो हम उसे वेबसाइट में पब्लिश कर देंगे.
  • instagram follow page

    Below Post Ad